True Love Story | Ek Adhuri Love story | एक अधुरी लव स्टोरी | Love story | Best Love story in Hindi





मैं  अपनी lovestory आज दिनांक 5 अप्रेल 2018 को लिख रहा हूँ | मैं अपनी बीती हुई जिंदगी की कुछ मीठी यादें तजा कर रहा हूँ | 

मेरा नाम Aamar जन्म 14 february यानि valentine day एक छोटे से परिवार में हुआ | जब मैं करीबन 12 साल का हुआ तो मैं अपनी आगे की पढाई Bagaha जाकर अपने नाना- नानी के यहाँ रहकर पढ़नी शुरू कर दी | उसके बाद जब मैं 6th  class  में गया तो मैं अपने आगे की पढाई एक सरकारी स्कूल में शुरू कर दी | जिसका नाम राजकीय मधय विद्यालय था |

जब मैं पहला दिन school me गया तो मेरी मुलाकात waha के सभी teachers से  अच्छी तरह से हो गई क्यों की उसका कारन यह था कि मेरे नाना जी एक सरकारी teacher थे | जिसके कारन मैं वहा नामांकन कराया और ओहा के सभी अध्यापक से मेल जॉल बहुत जल्दी हो गई  मेरी मुलाकात सबसे पहले ओहा पर सुबास सर से हुई | जो मेरे नाना जी के मित्र है |धीरे-धीरे मैं जब कलस करने लगा तो सभी लड़का लड़की मेरे अच्छे friends बन गये | धीरेधीरे मैं सभी को पसंद करने लगा और  सब भी मुझे पसंद करने लगे | क्यों कि मैं सभी से अच्छी तरह से बाते करता था |

मुझे क्या पता था कि मुझे भी love हो जायगा  | वह वक्त मैं कभी भी नहीं भूल सकता जब मैं सातवे क्लास में था  | नवम्बर दिसंबर 2006 का साल था | जब मैं राजकीय मध्द्य विद्यालय में पढ़ता था | मेरे साथ एक लड़की Padhati थी | उसका घर स्कूल से लगभग एक किलोमीटर दूर पूरब दिशा में सुखावन गांव में था | वह मेरे साथ मेरे class में ही पढ़ती थी |  ना जाने मुझे कैसे उससे प्यार हो गया | प्यार हुआ तो कब हुआ यह मुझे नहीं पता क्यों हुआ यह भी मुझे नहीं पता क्या ओह मुझसे प्यार करती थी यह भी मुझे नहीं पता बस मुझे यह पता था कि मैं उससे Bahut Payar करता हूँ | उसकी हर आदत मुझे अच्छी लगाती थी | उसका बात करने का अंदाज मुझे अच्छा लगायता था | मुझे उससे love हो गया मालूम नहीं कि वह मुझसे Pyar करती थी कि नहीं लेकिन मैं उससे Pyar करता था | उसका नाम Anju था जिससे मैं Pyar करता था | धीरे धीरे समय बीतता गया सायद उसे भी मुझसे love हो गया | ना मैं जान सका कि क्या वह मुझसे Pyar करती है ना ही वह  जान सकी कि क्या मैं उनसे love करता हूँ | लेकिन आख सच बया कर ही देती है कि कौन किसे कितना Pyar करता है | क्या पता कि मैं उस समय उसकी खूबसूरती को पसंद करता था कि उसे मुझे उस वक्त यह पता नहीं था जब Wah muskurati थी तो उसके बाये गाल में एक प्यारी सी डिम्पल हो जाया करती थी | जिसपर मैं हमेशा फिदा रहता था |






धीरे-धीरे समय बीतता गया | और मेरे नाम का love letter  लिखी वह love letter मेरे class teacher के हाथ लग गया | जिसके कारन यह बात पता नहीं चल सका कि क्या ओह वाकई मेरे नाम का love letter था या कोई दूसरी कागज यह बात मुझे आज तक पता नहीं वह कागज मेरे क्लास टीचर हाथ में लेकर lover कि तरफ देखकर मुझे डाट रहे थे कि लड़के बिगड़ गये हैं चलो मैं तुम्हारे नाना जी से शिकायत करता हूँ  | मैं dar  गया अगर वह love letter होगा होगा तो मैं उनहे क्या कहूँगा | और ये बात ओह मेरे नाना गई को नहीं बताये जिससे कारण मैं यह बात पता नहीं चल पाया क्या वह मुझसे love करती थी कि नहीं  बस मुझे यह पता हैं कि मैं उससे आज भी बेहद Payar करता हूँ , और करता रहुगा आज उससे मिले वर्षो हो गये | मैं उससे मिलाना चाहता हूँ | लेकिन सायद मुझे इस जिंदगी में कभी उससे मुलाकात होगी कि नहीं यह मुझे पता नहीं |




मैं इस भ्रम में आज भी हूँ कि शायद वह मुझसे Payar  करती हैं | कम से कम मैं यह सोचकर आज भी उसका नाम ले लेता हूँ  कि शायद ....... वह मुझसे प्यार करती होगी | मैं आज यह सोचता हूँ कि काश मैं उसे यह कह देता कि मैं Tumase Pyar करता हूँ | काश ....काश ....काश मैं उसे कह देता कि मैं तुमसे बेहद Payar करता हूँ | लेकिन हकिकत क्या हैं नहीं वह जान सकी और नहीं मैं जान सका | बस मैं  इतना जान सका कि Pyar or love एक एहसास हैं और कुछ भी नहीं |




Age Kya huaa kya wah Mujhase mili. Agar aap janana hai to Comment kigiye ??

2 comments: